Currently Browsing: Latest Films

Dangerous Is The First Film In India To Be Released On blockchain NFT

Dangerous Is The First Film In India To Be Released On blockchain NFT

ब्लॉकचेन एनएफटीवर रिलीज जाणारा ‘डेंजरस  हा भारतातील पहिला चित्रपट

राम गोपाल वर्मा प्रत्येक गोष्टीकडे वेगळ्या नजरेने पाहतो. त्याच्या या वेगळ्या नजरेमुळेच तो प्रेक्षकांसमोर नेहमी काही तरी नवे घेऊन येतो. मग तो कॅमेरा अँगल असो,  विवादास्पद विषयांवर त्याने घेतलेला स्टॅन्ड असो वा अन्य काही. राम गोपाल वर्माने आता नव्या युगाची गरज ओळखून एक नवा प्रयोग करण्याचे धाडस केले आहे. रामगोपाल वर्माने त्याचा आगामी चित्रपट ‘डेंजरस’ हा नॉन फंजिबल टोकन (एनएफटी) म्हणून विक्रीसाठी उपलब्ध केला आहे. ब्लॉकचेन  कोणत्याही फियाट चलन किंवा क्रिप्टोकरन्सीसह खरेदी केले जाऊ शकते

NFT हे झपाट्याने वाढणारे डिजिटल मार्केट असून तेथे कोणतीही वस्तू विकली जाता येणार आहे.

रामगोपाल वर्माचा हा चित्रपट NFT वर प्रदर्शनासाठी उपलब्ध करण्यात आलेला भारतातील पहिला चित्रपट आहे.

सामान्य माणसाच्या शब्दात सांगायचे तर,  या ब्लॉकचेनमध्ये कोणीही भागीदार बनू शकतो किंवा डेंजर टोकनमध्ये गुंतवणूक करून ‘डेंजरस’ विकत घेऊ शकतो. याचा सह-मालक होण्यासाठी कितीही डेंजर टोकन खरेदी केले जाऊ शकतात आणि तो/ती गुंतवणुकीच्या प्रमाणात सर्व मार्गांमधून योग्य चित्रपटाला मिळालेल्या महसूलात हक्कदार असेल.

‘सत्या’’कंपनी’ आणि ‘रंगीला’सारख्या चित्रपटांचे निर्माते-दिग्दर्शक रामगोपाल वर्मा यांनी चित्रपट NFT विक्री वर आणण्याबाबत सांगितले, “क्रिप्टो जगात आणि एनएफटी मार्केट प्लेसमध्ये मनोरंजन उत्पादनाचे अनेक भाग असू शकतात. ते तयारही केले जाऊ शकतात,  इतिहासात पहिल्यांदाच, क्रांतिकारी पद्धतीने,  मनोरंजन उत्पादने आता बनवली जातील,  रिलीज केली जातील, मार्केट केली जातील आणि ब्लॉकचेनवर विकली जातील, ” असेही रामगोपाल वर्मा यांनी सांगितले.

राम गोपाल वर्माने डिजिटल प्लॅटफॉर्मची नवीन युगातील शक्ती लक्षात घेऊन त्याबाबत स्पष्ट करताना सांगितले. “आजच्या काळात, चित्रपट उत्पादने वंश, रंग, भाषा आणि सीमांच्या पलीकडे आहेत. कारण त्या सर्वांना एकत्र आणणारी गोष्ट म्हणजे मानवी कथा. म्हणूनच आजच्या काळात, संपूर्ण जगातील कोठूनही, कोणीही संपूर्ण जगात कोठेही, समान संवेदनांना लक्ष्य करणारा चित्रपट बनवू शकतो. पूर्वी जेथे फक्त चित्रपटगृह आणि उपग्रह टीव्ही होते, त्यापेक्षा आता बरेच अधिक माध्यम उपलब्ध झालेले आहे. आणि निर्माते वेगाने बदलत्या तंत्रज्ञानाशी कसे जुळवून घ्यावे याबद्दल सतत संभ्रमात आहेत. ही समस्या आता ब्लॉकचेन तंत्रज्ञानाद्वारे सहभागी-केंद्रित मनोरंजन परिसंस्था तयार करून सोडवली गेली आहे. विकेंद्रीकरण आणि संपूर्ण पारदर्शकतेसह संस्था निर्माण करण्याची योजना आहे.”  असेही रामगोपाल यांनी सांगितले.

सन्माननीय सर्वोच्च न्यायालयाने कलम 377 रद्द केल्याने, समलिंगी संबंधांना कायदेशीर मान्यता मिळाली आहे. त्यानंतर या विषयावर भारताची पहिली समलिंगी गुन्हेगारी/कृती/प्रेमकथा म्हणून ‘डेंजरस’ प्रेक्षकांसमोर येणार आहे. राम गोपाल वर्माच्या ट्रिकी मीडिया प्रॉडक्शनमध्ये तयार झालेल्या या चित्रपटात नैना गांगुली आणि अप्सरा राणी मुख्य भूमिकेत आहेत.

‘डेंजरस’चित्रपटगृहांमध्ये आणि स्ट्रीमिंग प्लॅटफॉर्मवर पे-पर-व्ह्यू मॉडेलवर रिलीज केला जाणार आहे. यातून उत्पन्न होणारा महसूल सर्व भागीदारांना त्यांच्या गुंतवणूक गुणोत्तरानुसार दिला जाणार आहे. हा चित्रपट टोकन किंवा रुपया किंवा डॉलर्स किंवा क्रिप्टो आणि इतर कोणत्याही चलनात भरून पाहिला जाऊ शकते.

अधिक माहितीसाठी, भेट द्या:

http://www.rgvdangertoken.com/

You Too Can Become A Partner Of Ram Gopal Varma’s Film Dangerous

You Too Can Become A Partner Of Ram Gopal Varma’s Film Dangerous

आप भी बन सकते हैं राम गोपाल वर्मा की फ़िल्म डेंजरस के साझेदार!

राम गोपाल वर्मा हमेशा‌ से अपने‌ हटके अंदाज़ और अलग तरह के नज़रिए के लिए जाने जाते हैं. बात फिर उनके कैमरा ऐंगल्स की हो या फिर विवादित विषयों पर फ़िल्में बनाने की, राम गोपाल वर्मा का कोई सानी नहीं है. अब राम गोपाल वर्मा ने‌ अपनी जल्द रिलीज होनेवाली फ़िल्म डेंजरस को ब्लॉकचेन पर नॉन-फ़ंजिबल टोकन (NFT) के ज़रिए बेचने का फ़ैसला किया है. इस किसी भी मौजूदा करंसी के इस्तेमाल अथवा क्रिप्टोकरंसी के माध्यम से ख़रीदा जा सकता है.

NFT तेज़ी से बढ़ता ऐसा डिजिटल बाज़ार है, जहां पर किसी भी वस्तु को किसी भी क़ीमत पर ख़रीदा और बेचा जा सकता है. ऐसे में राम गोपाल वर्मा की डेंजरस ऐसी पहली फ़िल्म बन गई है जिसे इस नए तकनीक के इस्तेमाल के माध्यम से रिलीज़ किया जा रहा है.

किसी आम आदमी की भाषा में कहें तो कोई भी शख़्स डेंजर टोकन्स में निवेश कर फिल्म डेंजरस का पार्टनर बन सकता है या फिर फिल्म से जुड़ी पूरी संपत्ति को ही ख़रीदा सकता है. इस संपत्ति का साझेदार बनने के लिए कोई भी व्यक्ति किसी भी मात्रा में टोकन ख़रीद सकता है. ऐसे में किसी शख़्स द्वारा किये गये निवेश के अनुपात में उसे सभी माध्यम से होनेवाली आय को मुनाफ़े के तौर पर लौटाया जाएगा.

सत्या, कंपनी और रंगीला जैसी बेहद लोकप्रिय फ़िल्में बना चुके राम गोपाल वर्मा ने NFT के माध्यम से फ़िल्म को बेचे जाने के

इस क़दम को एक क्रांतिकारी सोच बताया.

राम गोपाल वर्मा कहते हैं, “क्रिप्टो की दुनिया NFT के बाज़ार में अपने‌ प्रवेश को लेकर कहना चाहूंगा कि मनोरंजन से जुड़े किसी भी उत्पाद के कई रूप होते हैं. यहीं पर NFT की अहम भूमिका शुरू होती हैं. इससे अलग-अलग तरह के मनोरंजक उत्पादों को बनाने की दिशा में तेज़ी से प्रगति होगी. इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है कि एक क्रांतिकारी तरीके से मेरे मनोरंजक उत्पाद ब्लॉकचेन के माध्यम से बनाए जाएंगे, उन्हें प्रचारित किया जाएगा और उनकी मार्केटिंग की जाएगी.”

जाने-माने फ़िल्म निर्देशक राम गोपाल वर्मा डिजिटल मीडिया की ताक़त के बारे में कहते हैं, “आज के समय में फ़िल्में जाति, रंग-भेद, सरहदों से पर होती हैं और सभी को एकत्र लाने में सिनेमा का बड़ा योगदान होता है. ऐसे में आज की तारीख़ में कोई भी फ़िल्ममेकर दुनिया के हर तरह के दर्शकों  के लिए इस तरह की फ़िल्में बनाकर उनके सामने पेश कर सकता है. पहले के ज़माने में फ़िल्में देखने के लिए महज़ सिनेमाघर और सैटेलाइट चैनल ही हुआ करते थे. मगर आज फ़िल्में दिखाने के लिए और भी कई तरह के माध्यम मौजूद हैं. ऐसे में तमाम फ़िल्मकार लगातार इस दुविधा से गुज़र रहे हैं कि आख़िर तेज़ी से बदलती टेक्नोलॉजी के साथ कैसे क़दम मिलाया जाए. लेकिन ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी ने इस समस्या का समाधान कर दिया है. अब दर्शक बड़े पैमाने पर एक नये इको-सिस्टम से जुड़कर फ़िल्मों का लुत्फ़ उठा सकते हैं. हम ब्लॉक के विकेंद्रीकरण पर ज़ोर देते रहे हैं और सभी तरह के भागीदारों की हिस्सेदारी में बदलाव लाते हुए एक ऐसा इको-सिस्टम तैयार कर रहे हैं जो पूरी तरह से पारदर्शी हो.”

कुछ साल पहले माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा धारा 377 को ग़ैर-क़ानूनी ठहराए जाने के बाद समलिंगी संबंधों को मान्यता प्राप्त हो गई है. ऐसे में इस आदेश के बाद डेंजरस देश में बनी पहली समलिंगी क्राइम/एक्शन/लव स्टोरी फ़िल्म है. फ़िल्म का निर्माण ट्रिकी मीडिया के तहत राम गोपाल वर्मा द्वारा किया गया है. उल्लेखनीय है कि फ़िल्म में ब्यूटी क्वीन नैना गांगुली और अप्सरा रानी मुख्य भूमिकाओं में हैं.

डेंजरस सिनेमाघरों के साथ साथ स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर भी पे-पर-व्यू मॉडल के आधार पर रिलीज की जाएगी. इस फ़िल्म की रिलीज़ से होनेवाला मुनाफ़ा सभी साझेदारों में उनके निवेश के आधार पर उन्हें बांटा जाएगा. इस फ़िल्म को टोकन ख़रीदकर, रुपये अथवा डॉलर देकर भी देखा जा सकेगा. इसके अलावा क्रिप्टो करंसी और डेंजर टोकन्स के ज़रिए भी इसका लुत्फ़ उठाया जा  सकता है.

अधिक जानाकरी के लिए  website पर जाएं.

visit:

http://www.rgvdangertoken.com/

DANGEROUS Will Be India’s First Film For Sale As An NFT On Blockchain

DANGEROUS Will Be India’s First Film For Sale  As  An NFT On Blockchain

Ram Gopal Varma has a tendency to look at things differently – be it his camera angles, his take on controversial subjects  – and continuing in the same vein – he has now put his film upcoming film for sale as a Non Fungible Token (NFT) on Blockchain which can be purchased with any Fiat currency or cryptocurrencies.

NFT is a rapidly growing digital market place where everything and anything is selling at some price.

Varma’s film thus becomes the first in India to use this method for a  film’s release.

To put it in layman’s words, one can become a partner or buy the whole property of ‘DANGEROUS’ by investing in Danger Tokens. Any number of Danger Tokens can be bought to become a co-owner of the property and he/she would be entitled to the appropriate revenue sharing from all avenues in proportion to the investment, for perpetuity.

The maker of films like Satya, Company and Rangeela explains the rationale for film to be put up as an NFT sale.

“Regarding my foray into the crypto world and NFT market place I understood that there can be many parts to an entertainment product which can be made, which is where NFT comes in… This will PUSH THE LIMITS of how many types of ENTERTAINMENT PRODUCTS can be made. For the 1st time ever in history, In a revolutionary method, my entertainment products will be now made, publicised,marketed and sold on Blockchain,” encrypts Varma.

The mercurial filmmaker explains the rationale keeping in mind the new age power of the digital platforms as well.  “In today’s times, film products are beyond race, colour, language and borders as what unifies all of them is human stories. Hence in today’s times, anyone from anywhere in the whole world can make a film targeting similar sensibilities anywhere else in the whole world. Unlike in the past where there were only cinemas and satellite tv, there are now so many more mediums and content makers are in a continuous dilemma about how to adapt to the rapidly changing technologies and their complex applications. This problem is now solved with blockchain technology by creating the largest and most participant-centric entertainment ecosystem. The plan is to decentralize and create an ecosystem with complete transparency by CHAINING all the concerned participants in the block,” adds Varma.

DANGEROUS is being billed as India’s 1st lesbian crime/action/love story since the honourable Supreme Court repealed section 377, thus making same-sex relationships legitimate. The film features beauty queens Naina Ganguly and Apsara Rani in the lead in a Tricky Media Production of the Ram Gopal Varma offering.

Dangerous will be released in theatres and also on a streaming platform on a pay-per-view model. The revenues generated will be received by all the partners as per their investment ratios. It can be watched by paying in tokens or rupees or dollars or any other currency potentially including crypto and Danger Tokens.

 

For further details, visit:www.rgvdangertoken.com

Prakash Jain Comes Up With Web Movie Sanskari Bahurani

Prakash Jain  Comes Up With Web Movie Sanskari Bahurani

प्रकाश जैन ला रहे हैं वेब  मूवी संस्कारी बहूरानी

प्रकाश जैन की लाईफस्टाइल सेंस भी कमाल की है। वे खुद का पेट्रोलियम ट्रेडिंग बिजनेश चलाते हैं और रुझान फिल्म मेकिंग में है। उनकी हिन्दी वेब मूवी संस्कारी बहूरानी जल्द ही रिलीज होने वाली है। गुजरात के उमरगांव के खतलवाड़ा जिला वलसाड़ में उनका खुद का  पेट्रोलियम ट्रेडिंग  बिजनेश है।

फिल्म मेकिंग की तरफ रुझान कैसे हुआ इस पर वेकहते हैं मेरे घर के पास भी शमीम खान जी रहते हैं जो मेरे अभिन्न मित्र हैं। शमीम भाईको अभिनय करते मैने कई बार देखा था सो उनके निवेदन पर इस फिल्ड में भी हाथ आजमाने आगया। मगर मैं लीक से हटकर फिल्म बनाना चाहता था। कई कहानी सूनी मगर पसंद नहीं आई उसके बाद सूर्यकांत जी ने संस्कारी बहूरानी की कहानी सुनाई और कहानी सुनते ही मैने कह दिया कि हां मैं यह फिल्म बना रहा हूं। संस्कारी बहूरानी को एक पारिवारिक फिल्म मानते हुए प्रकाश जैन कहते हैं सुर्यकांत जी ने कमाल की फिल्म बनायी है।

जिसे पूरे परिवार के साथ बैठकर देखा जासकता है। शमीम खान जी इस फिल्म के सह निर्माता भी हैं और इस फिल्म के खलनायक भी हैं।

जय पी इंटरटेनमेंट हाउस के बैनर तले बनी इस फिल्म संस्कारी बहरानी की कहानी लिखा हैऔर निर्देशन किया है सुर्यकांत गणपत ताम्रदमन ने। निर्माता हैं प्रकाश जैन, सह निर्माता शमीम खान, गीतकार और संगीतकार हैं कमलेश सिंह, पटकथा और संवाद लिखा है सुर्यकांत गणपत ताम्रदमन ,कमलेश सिंह, बलिराम गावड़ने। डीओपी हैं प्रमोद पांडे। इस फिल्म के संपादक हैं राजेश शाह । एक्शन डायरेक्टर हैं शाहबाज अली, कोरियोग्राफर हैं राजू एंथोनी, म्युजिक कंपोजर हैं सुभाष सुर्यम। पोस्ट प्रोडक्शन आई फोकस ने तैयार किया है।

इस फिल्म के मुख्य कलाकार हैंअपर्णा पराजंपे, रविन्द्र कुल्हार, रितेश कुमार, प्रेमनाथ गुलाटी, गरिमा अग्रवाल, राकेश गुप्ता, राकेश बाबू, परेश भट्ट, खुशी गुप्ता,विनोद मिश्रा, अशी खान, पार्थ कामली,काजल सिंह,मनीष राउत और शमीम खान।

इस वेब मूवी को भरूच और विरार सहित महाराष्ट्र और गुजरात के शानदार लोकेशनों पर फिल्माया गया है।  इस मूवी में एक से बढ़कर एक गाने हैं। प्रकाश जैन कहते हैं पहली बार मैने जब  बार ट्रैक सुना तो मैं काफी आकर्षित हुआ। भारतीय और पश्चिमी संगीत के संयोजन ने मुझे जकड़ लिया, मुझे डांसिंग बहुत पसंद है और यह गाना हर किसी को नाचने को मजबूर कर देगा। फिल्म कलाकारों की  बॉन्डिंग दर्शकों को काफी पसंद  आयेगी।

  

आगे की योजना की बात करते हुए प्रकाश जैन कहते हैं अगली फिल्म जल्द ही सूर्यकांत जी के निर्देशन में फ्लोर पर जा ने वाली है।

KOMIC – Warming up of Himalayas at a very high rate based on Global Warming – A Yuvraj Kumar Film

KOMIC – Warming up of Himalayas at a very high rate based on Global Warming –  A Yuvraj Kumar Film

We cannot escape the impact of our actions on the environment. Global warming has already taken many lives, tsunamis are striking our coastal areas, floods and droughts have had a major bearing on the availability of clean water, thus affecting the production of crops and hence the price of food. Its high time , we as guardians of our planet Earth , step up and do our bit to save the environment from the impending doom.

A very young and energetic director Yuvraj Kumar is shooting a feature film titled “Komic” – Warming up of Himalayas at a very high rate , film based on the highest town in the World, it’s the story of rich teenagers, who love their sport luxurious rides, driving Ferrari, Lamborghini etc . These fossil fuel based vehicles harm the Himalayan Range  , the pollution caused by the use of fossil fuels , heats the Himalayas causing frequent landslides and due to this there is a huge destruction in Uttarakhand , realising the harm done to the Himalayas the teenagers give up the use of their sports cars and take up , skateboarding, inline skating and bicycles. They develop a keen interest in the sport and end up representing our country India at a world-level sports competition , thus popularising the use of ECO – friendly means of transportation throughout the  country .

The film has talented young actors , Jay Kumar, Zoe Siddhart, Taneesha Mirwani, Venkatesh Pandey and Rivya Rai , the film is Produced by Yuvraj Kumar under the banner of Atlantic Films & marketed  by Mr Saurabh Jain from Lavishka Media.

While talking to the Media director Yuvraj Kumar Said, “Film Komic will start a new trend in the way we travel & help counter the problem of Global Warming. The Film will be shot in Himachal Pradesh as the story is about the harm we are causing to the Great Himalayas and how we counter this problem .”

Komic: The Film’s mission is to push for an urgent action to prevent the catastrophic destabilization of our Planet . The teenagers in this film show us ways to stop climate change to save our planet .

It’s an entertaining film with an important message .

« Previous Entries